Wednesday, August 19, 2009

जब तुम चाहोगे

सच है
खिलेगा कमल
पंछी गुनगुनाएंगे
कोयल कू कू करेगी
महकेगा चमन
बहेगी हवा
सुहावना होगा मौसम
सब कुछ अच्छा होगा.........


हे ईश्वर !
जब तुम चाहोगे|
.................................................

5 comments:

ओम आर्य said...

बिल्कुल सही कहा आपने........अतिसुन्दर

परमजीत बाली said...

sundar rachnaa hai.

sandhyagupta said...

Kya sab Ishvar ke chahne se hi hoga?

दिगम्बर नासवा said...

सच कहा ........... इश्वर की इच्छा न हो तो पत्ता भी नहीं हिल सकता ............ सुन्दर लिखा है

Dhiraj Shah said...

sundar tasveer sach ka